Husna Lyrics – Coke Studio By Piyush Mishra

Husna (Coke Studio) – Piyush Mishra Lyrics

Husna Lyrics
SingerPiyush Mishra
ComposerHitesh Sonik
Song WriterPiyush Mishra

Husna lyrics Song is sung by Piyush Mishra who is a great lyricist, actor and also a singer.

Husna Lyrics By Piyush Mishra

Lahaur ke us pahle jile ke
dopargana me pahuche
resham gali ke, duje kunche ke
chauthe makan me pahunche
aur kahte hain jisko duja mulkush
pakistan me pahunche
likhta hun khat main, hindostaa se
pahlu e husna me pahunchi o husna

main to hun baitha
o husna meri yaado purani me khoya
main to hun baitha
o husna meri yaado purani me khoya
pal pal ko gintaa pal pal ko chunta
biti kahani me khoya..

patte jab jhadte hindustan me
yaade tumhari ye bole
hota ujala hindustan me
baate tumhari ye bole
o husna mere ye to bata do
hota hai aisa kya us gulista me
rehti ho nanhi kabutar si gum tum
jahan o husna..

Also Read -  जूतम फेंक Jootam Phenk Hindi Lyrics - Gulabo Sitabo

patte kya jhadte hain pakistan
vaise hi jaise jhadte yaha, o husna
hota ujaala kya vaisa hi hai
jaisa hota hindustan me ha
o husna

wo heero ke ranjhe, nagme mujhko
ab tak aa aake sataye
woh bulle shah ki takriro ke
jhine jhine saaye
wo id ki idi lambi namaze
seyvaiya ki jhallar
wo diwali ke deeye sang me
baisaakhi ke badal
holi kenu lakdi me jalni
sang sang aanch lagai
lohdi ka wo shuva
jisme dhadkhan hai sulgaai..

o husna meri ye to bata do
lohdi ka dhuva
kya abhi nikalta hai
jaisa nilkalta tha us daur me
waha, o husna.

Husna Lyrics in Hindi – हुस्ना सांग की हिंदी लिरिक्स

लाहौर के उस
पहले जिले के
दो परगना में पहुँचेरेशम गली के
दूजे कूचे के
चौथे मकां में पहुँचे,

Also Read -  जूतम फेंक Jootam Phenk Hindi Lyrics - Gulabo Sitabo

और कहते हैं जिसको
दूजा मुल्क उस
पाकिस्तां में पहुँचे,

लिखता हूँ ख़त में
हिन्दोस्तां से
पहलू-ए हुसना पहुँचे
ओ हुसना मैं तो हूँ बैठा
ओ हुसना मेरी
यादों पुरानी में खोया ,

मैं तो हूँ बैठा
ओ हुसना मेरी
यादों पुरानी में खोयापल-पल को गिनता
पल-पल को चुनता
बीती कहानी में खोया

पत्ते जब झड़ते
हिन्दोस्तां में
यादें तुम्हारी ये बोलें
होता उजाला हिन्दोस्तां में
बातें तुम्हारी ये बोलें

ओ हुसना मेरी
ये तो बता दो
होता है, ऐसा क्या
उस गुलिस्तां में
रहती हो नन्हीं कबूतर सी
गुमसुम जहाँ
ओ हुसनापत्ते क्या झड़ते हैं
पाकिस्तां में वैसे ही
जैसे झड़ते यहाँ
ओ हुसना

Also Read -  जूतम फेंक Jootam Phenk Hindi Lyrics - Gulabo Sitabo

होता उजाला क्या
वैसा ही है
जैसा होता हिन्दोस्तां यहाँ
ओ हुसनावो हीरों के रांझे के नगमें मुझको अब तक आ आके सताएं
वो बुल्ले शाह की तकरीरों के
झीने झीने साये

वो ईद की ईदी
लम्बी नमाजें
सेंवैय्यों की झालर
वो दिवाली के दीये संग में
बैसाखी के बादल
होली की वो लकड़ी जिनमें
संग-संग आंच लगाई
लोहड़ी का वो धुआं जिसमें
धड़कन है सुलगाई


ओ हुसना मेरी
ये तो बता दो
लोहड़ी का धुंआ क्या
अब भी निकलता है
जैसा निकलता था
उस दौर में हाँ वहाँ
ओ हुसना
ये हीरों के रांझों के नगमे
क्या अब भी, सुने जाते है हाँ वहाँ
ओ हुसना
और रोता है रातों में
पाकिस्तां क्या वैसे ही
जैसे हिन्दोस्तां
ओ हुसना

Music Video of Husna Song

Also Read-

# Khuda Haafiz Lyrics

# Filhaal Song Lyrics

Leave a Comment